मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
3 अक्तूबर, 1957 से विविध भारती के स्थापना दिनसे ही रेडियो सुनने की शुरूआत । ८ साल की उम्रसे ।

बुधवार, 13 जुलाई 2011

हिन्दी फिल्म संगीत के महान सेक्षोफोन वादक स्व. मनोहरी सिंध- प्रथम पूण्य तिथी पर विनम्र श्रद्धांजली

आज भारतीय फिल्म संगीत के महान सेक्षोफोन और वेस्टर्न फ्ल्यूट वादक स्व. मनोहरी सिंध की मृत्यू को एक साल बित गया और अभी ऐसा लगता है कि कल की बात हो । तो आज रेडियो विश्व पर उनको श्रद्धांजली अर्पीत करते हुए उनकी फिल्मी जीवन के शुरूआती दौर की एक 78 आर पी एम रेकोर्ड में से फिल्म समाधी के गीत गोरे गोरे ओ बाँके छोरे की सेक्षोफोन पर उनकी बजाई हुई धून का अंश प्रस्तूत करता हूँ, जो कुछ ही समय पहेले रेडियो श्रीलंका- हिन्दी सेवा की ताझा उद्दघोषिका श्रीमती रूबी स्मिता द्वारा वाद्य संगीत कार्यक्रममें प्रस्तूत की गई थी, जो मूझे एस एल बी सी के इन्टरनेट प्रसारण में से प्राप्त हुई है । इनके बारेमें अन्यत्र कई बातें लिख़ी गई है और विविध भारतीसे उनकी मुलाकातों में भी उन्होंने खूद कहीं है उनको यहाँ दोहरानेका इरादा नहीं है ।

पियुष
महेता
सुरत-395001.

3 टिप्‍पणियां:

  1. Manoharidada ki yaden taza karne ke liye dhanyawad!kuchh saal pehle THANE shahar men O P Nayyer sahab ke liye jo program hua tha us program ka sanchalan karne ka saubhagya muze mila tha isi program me great broadcaster Amin Sayani sahab bhi maujud the lyricist Ahmed Wasi Singer Dilraj kaur jaisi hastiyan bhi thi aur sone pe suhaga Manohari dada ki baqamal peshkash!...Sab kuchh shiddat se yaad aa gaya!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. मनोहारी सिंह जी को विनम्र श्रद्धांजलि !

    अन्नपूर्णा

    उत्तर देंहटाएं