मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
3 अक्तूबर, 1957 से विविध भारती के स्थापना दिनसे ही रेडियो सुनने की शुरूआत । ८ साल की उम्रसे ।

शुक्रवार, 24 अगस्त 2012

संगीत कार स्व. श्री कल्याणजी (आनंदजी से जूड़े) वीरजी शाह को पूण्य तिथी पर श्रद्धांजली एक नये रूपमें

आज स्व. संगीतकार कल्याणजी की मृत्यू तिथी पर श्रद्धांजलि स्वरूप उनकी क्लेवायोलीन पर बजाई अन्य मशहूर संगीत कार जोड़ी शंकर जयकिशन के स्वरबद्ध किये हुए गाने जा जा सनम मधूर चांदनी में हम (फिल्म चोरी चोरी के गाने की धून जो रेडियो सिलोन से प्राप्त हुई है, श्रीमती ज्योति परमारजी के सौजन्य से । पियुष महेता । सुरत ।

1 टिप्पणी:

  1. Adbhut... Kripaya aise anmol ratn share karte rahein Piyush ji... mere sabse Priya Sangeetkar Shankar-Jaikishen ki dhun mere doosre sabse priya sangeetkar Kalyan ji dwara bajayi gayi hai... aisa adbhut sangam kabhi kabhi hi dekhne ko milta hai

    उत्तर देंहटाएं